• Home
  • Income Tax
  • जानिए कौन सा ITR form है आपके लिए सही | which itr form to file
Income Tax

जानिए कौन सा ITR form है आपके लिए सही | which itr form to file

जानिए कौन सा ITR form है आपके लिए सही | which itr form to file

This Article explains how the individual can choose her correct ITR form according to sources of income. There are various Income tax returns ITR forms available on Income tax portals such as ITR-1, ITR-2, ITR-3, ITR-4, ITR-5, ITR-6, and ITR-7. Choosing correct ITR is very important before filing your income tax return as you might end up getting income tax notice in case you have not chosen your ITR form correctly and not shown the required details as per the Income-tax act.

(1). What is ITR-1, and who can File this ITR. (2). What is ITR-2, and who can File this ITR. (3). What is ITR-3, and who can File this ITR. (4). What is ITR-4, and who can File this ITR. (5). What is ITR-5, and who can File this ITR. (6). What is ITR-6, and who can File this ITR. (7). What is ITR-7, and who can File this ITR.

Watch video this article.  https://youtu.be/xF0F_EJJgEo

कुछ  ही दिनों में हमरे  इनकम टैक्स return फाइलिंग के फॉर्म अवेलबल हो जायेंगे  इनकम टैक्स की साइट को और हम सभी को अपनी इनकम रिटर्न टैक्स फाइल करनी होती लेकिन बहुत से लोगो को ये नहीं पता होता की उनको कोनसा इनकम टैक्स फॉर्म भरना हे उनकी इनकम के हिसाब से बहुत से  लोगो अपना इनकम टैक्स फॉर्म गलत भर देते जिसके कारण फ्यूचर में उन्हें इनकम टैक्स से नोटिस आ जाता हे तो आप ये गलती मत कीजिये इस बार के इनकम टैक्स रिटर्न फिलिंग में  पहले समझ ली जी की आपके लिए कोनसा itr फॉर्म हे।

तो सबसे पहले आपको ये इंसोर करना होता हे की आपके लिए कोनसा itr फॉर्म हे

जैसाकि की आप सभी को पता हे की इनकम टैक्स में  1 से लेकर 7 तक  फॉर्म होते हे

तो इन सात फॉर्म में से आपके लिए कोनसा इनकम टैक्स फॉर्म   हे ये आपके लिए जानना बहुत जरुरी हे

कियोंकि आप गलत income tax form fill कर देते हे तो आपको इन फ्यूचर बहुत सी  प्रेक्टिकल प्रोब्लेम्स आ सकती हे

तो आज के इस वीडियो में में आपको बहुत इजी वे में बताने बाला हूँ की आपको अपना कररेक्ट इनकम टैक्स फॉर्म कैसे सेलेक्ट करना हे

which itr form to file

दोस्तों इनकम टैक्स में कुल सेवेन itr फॉर्म होते हे itr 1 से लेकर itr 7 तक

अगर आप इंडिविजुअल हे तो आपके लिए केवल चार इनकम टैक्स फॉर्म रेलेवेंट हे  itr 1, itr 2, itr3 & itr4

तो आपको केवल इन चार फॉर्म में से एक फॉर्म को सेलेक्ट करना हे जो आपके लिए रिलेवेंट हे

इंडिविजुअल को हम दो कैटेगरी में डिवाइड करते  हे

पहली कैटेगरी में   salaried person यानि वो पर्सन्स जो कही पे जॉब करते हे किसी कंपनी में या किसी एम्प्लायर के अंडर

और दूसरी कैटेगरी मे वो पर्सन्स आएंगे जो अपना बिज़नेस करते हे ( businessman/ proprietor ) आएंगे।

अब अगेन एक चीज़ क्लियर कर लीजिये अगर आप SALARIED पर्सन्स हे तो आपके लिए केवल DO ITR FORM हे ITR-1 & ITR-2

ऐसे ही अगर आप बिज़नेसमैन हे या PROPRIETOR हे तो आपके भी सिर्फ दो ITR FORM हे ITR-3 & ITR-4

तो चलिए अब हम सलारिएड पर्सन्स के लिए देख लेते हे की हमे इन दो ITR फॉर्म में से कोई एक ITR फॉर्म को सेलेक्ट कैसे करना हे  तो एक बात तो क्लियर हो गया हे की आप सिर्फ ITR 1 और 2 में से किसी एक फॉर्म को सेलेक्ट करेंगे अगर आप सलारिएड पर्सन हे तो ।

 

ITR-1 & ITR-2

तो चलिए अब हम सलारिएड पर्सन्स के लिए देख लेते हे की हमे इन दो ITR फॉर्म में से कोई एक ITR फॉर्म को सेलेक्ट कैसे करना हे  तो एक बात तो क्लियर हो गया हे की आप सिर्फ ITR 1 और 2 में से किसी एक फॉर्म को सेलेक्ट करेंगे अगर आप सलारिएड पर्सन हे तो ।

तो ITR-1 फॉर्म जो हे मोस्ट COMON फॉर्म हे  जो मैक्सिमम लोगो के लिए उस होता हे  तो चलिए अब देखते हे कोनसे सलारिएड पर्सन्स ITR-1  भर सकते हे

ITR -1 फॉर्म भरने के लिए इसके कुछ कंडीशन्स हे अगर आप  इन कोंडिसिशन्स को फुल फील करते हे तो आप ITR-1 भर सकते हे

तो कंडीशन्स कोनसी हे उसे समझते हे

पहली कंडीशन हे की आप एक रेसिडेंट इंडियन होने चाहिए आप NRI नहीं होने चाहिए

दूसरी कंडीशन हे की आपकी जो टोटल  इनकम हे वो  50 लाख से कम होनी  चाहिए

तीसरी कंडीशन जो हे आपकी इनकम SURCE इन तीन SOURCE से होनी चाहिए इसके आलावा नहीं

  1. INCOME FROM SALARY
  2. INCOME FROM ONE HOUSE PROPERTY
  3. INCOME FROM OTHER SOURCE

एक चीज यहाँ पे ध्यान रखना हे की यहाँ पे आपकी CASUAL इनकम काउंट नहीं होगी  CASUAL इनकम का मतलब होता हे अगर आपको लॉटरी से इनकम होती  हॉर्स रेसेस से इनकम होती हे लीगल गैंबलिंग से आपकी कोई इनकम होती हे या फिर अपने कोई गेम्स से इनकम EARN की हे तो ये सब CASUAL इनकम कहलाती हे  तो अगर इन मेसे आपकी कोई इनकम अति हे वो यहाँ पे इंक्लूड नहीं होगी

नेक्स्ट हे अगर आपकी कोई एग्रीकल्चरल इनकम होती हे तो वो 5000 से अधिक नहीं नहीं चाहिए अगर 5000 से अधिक इनकम होती हे तो आप ITR-1 नहीं भरेंगे।

इसके बाद जो नेक्स्ट कंडीशन अति हे आपकी फॉरेन यानि विदेश  में कोई एसेट नहीं होने चाहिए  मकान या प्रॉपर्टी में कोई कोई इन्वेस्टमेंट नहीं होने चाहिए

नेक्स्ट और लास्ट कंडीशन जो हे अगर आप किसी कंपनी के डायरेक्टर हे चाहे आप SALARIED INCOME EARN कर रहे तब भी आप ITR-1 फॉर्म को नहीं भर सकते और अगर अपने  इसी तरीके से किसी कंपनी के अनलिस्टेड इक्विटी शेयर्स होल्ड करते हे तो भी आप ITR-1 फाइल नहीं कर पाएंगे।

तो अगर कोई परसन इन कंडीशंस को फूल फील करता हे तो वो अपना ITR-1 फाइल कर सकता हे तो जनरली सलारिएड पर्सन्स इन कन्डीशन्स को फुल फिल करते हे

अब ये तो बात हुई सलारिएड पर्सन्स के लिए अब बात करते हे बिजनेसमैन के लिए

ITR-3 & ITR-4

तो बिजनेसमैन में के लिए भी दो ITR फॉर्म रेलवनेट हे ITR-3 & ITR-4 तो अगर आप बिज़नेस मैन हे तो आपको इन दोनों ITR फॉर्म में से कोई एक  फॉर्म सेलेक्ट करना हे अपनी इनकम के ACCURDING

अब पहले बात कर लेते हे ITR-4  की फिर ITR-3 की कियोंकि जैसे सलारिएड पर्सन्स के केस में मैक्सिमम लोग ITR -1 के लिए एलिजिबल होते उसी तरह बिज़नेस के केस भी मैक्सिमम लोग ITR – 4 के लिए एलिजिबल होते हे

जिस तरीके से हमने ITR-1 की कंडीशन्स देखि उसी तरीके से ITR-4 की कुछ कंडीशन्स हे और इसमें से काफी सारी कंडीशंस COMON हे ITR-1 से।

पहली कंडीशन जो हे आपकी  टोटल एनुअल इनकम 50 लाख तक ही होनी चाहिए

दूसरी कंडीशन जो हे आपकी इनकम के सोर्स जो  होंगे वो केवल ये चार सोर्स में से होने चाहिए। अगर आपकी इनकम  इसके  अल्वा किसी और सोर्स से होती हे तो आप ITR-4 फाइल नहीं कर सकते

  1. सबसे पहला जो इनकम सोर्स हे INCOME FROM SALARY अब कुछ लोग यहाँ पे कन्फ्यूज़ हो गए होंगे की सलारिएड के लिए के आलरेडी हम ITR देख चुके हे तो फिर यहाँ पे सैलरी इनकम आ गया तो यहाँ  पे  वो कोसेस कवर होते हे जिनके बिज़नेस के साथ SALARIED इनकम भी होती  बहुत से लोगो ऐसे होते जो  पार्ट जॉब भी करते हे और साथ ही अपना बिज़नेस भी करते हे।  और ऐसा भी होता हे किसीने ने  पुरे साल में कुछ महीने तो जॉब की और उसके बाद उसने  अपना बिज़नेस स्टार्ट कर दिया तो उनका  केस भी यही कवर होता हे तो अगर आपकी इनकम में बिज़नेस और सैलरी का कॉम्बिनेशन हे तो आप भी ITR-4 या ITR-3 फाइल करेंगे।
  2. और दूसरा जो इनकम सोर्स हे  इनकम फ्रॉम ONE हाउस प्रॉपर्टी  तो अगेन यहाँ पे भी आपकी  इनकम फ्रॉम हाउस. प्रॉपर्टी में एक ही प्रॉपर्टी की इनकम होनी चाहिए जैसा हमने ITR-1 में देखा था।
  3. तीसरा इनकम  सोर्स हे  इनकम फ्रॉम बिज़नेस & फ्रोफेशन
  4. और चउथा  इनकम सोर्स हे  इनकम फ्रॉम OTHER सोर्स  जिसमे आपका FD इंट्रेस्ट ,  सेविंग बैंक अकाउंट का इंट्रेस्ट हो सकती हे लेकिन यहाँ पे भी आपकी COUSAL इनकम नहीं होनी चाहिए।
  5. नेक्स्ट आपकी एग्रीकल्चरल इनकम 5000 से अधिक नहीं होनी चाहिए अगर 5000 से अधिक हे  तो आप ITR-4 फाइल नहीं  कर सकते।
  6. नेक्स्ट आपकी फॉरेन में कोई एसेट नहीं होने चाहिए
  7. आप किसी कंपनी के डायरेक्टर नहीं होने चाहिए
  8. और आपके  पास किसी कम्पनी के अनलिस्टेड इक्विटी शेयर  नहीं होने चाहिए हे
  9. ITR-4 फाइल करने के लिए आपके बिज़नेस का जो टर्न ओवर हे  वो 2 करोड़ से अधिक नहीं होना चाहिए टर्न  ओवर का मतलब होता आपकी पुरे साल की जो सेल्स हे उसकी वैल्यू 2 करोड़ से अधिक नहीं होनी चाहिए।

उसके बाद ये जो प्रेसमेटिव इनकम हे इसके टोटल सेक्शन हे तीनो सेक्शन  हे ( U/S 44AD ,  44ADA , 44 AE )अलग अलग बिज़नेस के लिए होते हे

 44AD   जो हे वो स्माल BUSINSS मैन के लिए होता हे

44ADA  में प्रोफेशनल्स की इनकम  अति हे जैसे CA डॉक्टर्स लोयर

 44 AE  में ट्रांसपोटर्स की इनकम अति हे और इनकी इनकम का कैलकुलेशन इनके नंबर्स ऑफ़ ट्रक्स पे डिपेंड करता हे।

और सबसे मैन जिसमे अधिकतर लोग  लगाती करते हे अगर कमीशन की इनकम हे तो आप ITR-4 फाइल नहीं करेंगे आपको ITR-3 फाइल करना पड़ेगा।

ITR – 5

अब बात करते ITR-5 इसे कौन  फाइल करता  हे

उन संस्थाओं को भरना होता है, जिन्होंने खुद को फर्म, LLPs, AOPs, BOIs के रूप में रजिस्टर्ड करा रखा है.

ITR -6

वह कंपनियां जिन्हें इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 11 के तहत छूट नहीं मिलती  है उन्हें आईटीआर 6 भरना होता है. आईटीआर 6 ऑनलाइन भरा जा सकता है.

ITR – 7

ऐसे लोगों या कंपनियों के लिए है, जो सेक्शन 139(4A) या सेक्शन 139(4B) या सेक्शन 139(4C) या सेक्शन 139(4D) के तहत अपनी इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करते हैं.

Related posts

इनकम टैक्स बचाने के 45 तरीके | How to Save Income Tax

GST Latest News

Leave a Comment